मध्यप्रदेश मुख्यमंत्री असंगठित मजदूर कल्याण योजना – ऑनलाइन पंजीकरण | www.shramsewa.mp.gov.in

मध्यप्रदेश मुख्यमंत्री असंगठित मजदूर कल्याण योजना
मध्यप्रदेश मुख्यमंत्री असंगठित मजदूर कल्याण योजना: मध्य प्रदेश सरकार द्वारा प्रदेश के हर जिले में असंगठित गरीब-मजदूरों के लिए एक सम्मेलन आयोजित करने जा रही है। यह सम्मेलन उन गरीब मजदूर परिवारों के लिए किया जायेगा जो सरकारी योजनाओ के लाभ से वंचित रह जाते है। इस सम्मेलन में प्रदेश के गरीब मजदूरों को आवास, प्रधानमंत्री उज्जवला योजना के तहत निःशुल्क गैस कनेक्शन सहित अन्य शासकीय योजनाओं के लाभ वितरण किये जायेंगे।

कौन है? असंगठित गरीब मजदूर

कृषि मजदूर, घरों में काम करने वाले, फेरी लगाने वाले दुग्ध श्रमिक, मछली पालन श्रमिक, पत्थर तोड़नेे वाले, पक्की ईंट बनाने वाले, बाजारों में दुकानों पर काम करने वाले, गोदामों में काम करने वाले, परिवहन, हथकरघा, पॉवरलून, रंगाई-छपाई, सिलाई-बुनाई-कढ़ाई अगरबत्ती बनाने का काम करने वाले, चमड़े के वस्तुएं और जूते बनाने वाले, ऑटो-रिक्शा चालक, आटा, तेल, दाल, चावल तथा पोहा मिलों में काम करने वाले, लकड़ी का काम करने वाले, बर्तन बनाने वाले, कारीगर, लुहार, बढ़ई तथा माचिस एवं आतिशबाजी उद्योग में लगे श्रमिक असंगठित श्रमिक वर्ग में आते हैं।

मध्यप्रदेश मुख्यमंत्री असंगठित मजदूर कल्याण योजना का उद्देश्य

सरकार द्वारा आयोजित किये जाने वाले गरीब मजदूर सम्मेलन का मुख्य उद्देश्य प्रदेश के असंगठित गरीब मजदूरों को सरकार द्वारा प्रदान की जाने वाली सरकारी योजनाओ और सेवाओं का लाभ प्रदान करना है जैसे: प्रधानमंत्री आवास योजना, प्रधानमंत्री उज्जवला योजना के तहत निःशुल्क गैस कनेक्शन, निःशुल्क इलाज, बच्चों को निःशुल्क पढ़ाई और निःशुल्क प्रशिक्षण आदि।  इन योजना का लाभ लेने के लिए प्रदेश के गरीब मजदूरों को अपना पंजीकरण करवाना होगा।

कब शुरू होगी मध्यप्रदेश मुख्यमंत्री असंगठित मजदूर कल्याण योजना?

असंगठित गरीब मजदूर परिवारों को इन योजनाओ का लाभ प्रदान करने के लिए सरकार द्वारा प्रदेश में 1 अप्रैल से 15 मई तक व्यापक अभियान चलाया जायेगा। जिसके तहत प्रदेश के सभी गरीब मजदूरों को अपना पंजीकरण करवाना होगा। उसके बाद सभी श्रमिकों को पट्टा, मकान, निःशुल्क इलाज, बच्चों को निःशुल्क पढ़ाई, निःशुल्क प्रशिक्षण, निःशुल्क गैस कनेक्शन के अलावा मृत्युध्अंत्येष्टि सहायता आदि भी दी जायेगी।

मध्यप्रदेश मुख्यमंत्री असंगठित मजदूर कल्याण योजना पंजीकरण उपरांत लाभ

आवेदन के लिए पात्रता

  • आवेदक एक श्रमिक होना चाहिए।
  • श्रमिक किसी भी तरह की शासकीय अथवा संविदा सेवा में न हो।
  • आयकरदाता न हो।
  • जिसके पास खेतीध्भूमि न हो।

मध्यप्रदेश मुख्यमंत्री असंगठित मजदूर कल्याण योजना पंजीकरण कैसे करे?

प्रदेश की सभी सरकारी योजनाओ का लाभ लेने के लिए गरीब मजदूर को अपना पंजीकरण करवाना होगा जिसके लिए एक आवेदन पत्र भरना होगा। इसके अलावा असंगठित क्षेत्र में कार्य कर रहे किस भी श्रमिक व मजदूर shramsewa.mp.gov.in  पोर्टल में अपना पंजीयन करवा सकते है।  पंजीकरण के बाद श्रमिकों को एक पंजीयन कार्ड भी प्रदान किया जायेगा।
सभी श्रमिक का पंजीयन कराने के लिये हर 2-3 ग्राम पंचायतों के बीच श्रमिक पंजीयन शिविर लगाये जायेंगे। ग्रामीण क्षेत्र श्रमिकों के पंजीकरण हेतु पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग तथा शहरी श्रमिकों के पंजीकार हेतु नगरीय प्रशासन एवं विकास विभाग नोडल विभाग होंगे।

आवेदन कब से शुरू होगा

आवेदन 1 अप्रैल से 15 मई तक कर सकते है।

मध्यप्रदेश मुख्यमंत्री असंगठित मजदूर कल्याण योजना आधिकारिक विज्ञापन (Official Advertisement)

 

मध्यप्रदेश मुख्यमंत्री असंगठित मजदूर कल्याण योजना मोबाइल एप

आवश्यक लिंक्स

One comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *