अखण्ड शिक्षा ज्योति मेरे स्कूल से निकले मोती योजना हिमाचल प्रदेश

अखण्ड शिक्षा ज्योति मेरे स्कूल से निकले मोती योजना हिमाचल प्रदेश, मेरे स्कूल से निकले मोती योजना – हिमाचल प्रदेश सरकार-अखण्ड शिक्षा ज्योति के अंतर्गत, राज्य के सभी छात्रों के कठिन परिश्रम तथा जीवन में उत्कृष्टता से सफलता पाने के लिए उन्हें प्रोत्साहित करने हेतु एक नयी सरकारी योजना को शुरू किया गया है सरकार की इस योजना का नाम ‘मेरे स्कूल से निकले मोती योजना’ है इतना ही इस योजना के अंतर्गत, सम्मानित सभी छात्रों का नाम स्कूल में प्रदर्शित करने के लिए  ‘रोल ऑफ ऑनर बोर्ड’ पर लिखा जाएगा। हिमाचल प्रदेश शिक्षा के क्षेत्र में अच्छा प्रदर्शन कर रहा है और केरल के उच्चतम साक्षरता दर में राज्य देश में दूसरे राज्य के रूप में उभरा है।

मेरे स्कूल से निकले मोती योजना

राज्य के वर्तमान मुख्यमंत्री श्री जय राम ठाकुर द्वारा सेराज इलाके में सरकारी वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय बागसीद से अखण्ड शिक्षा ज्योति – मेर स्कूल से निकले मोती योजना को शुरू किया है हिमाचल प्रदेश के उन छात्रों ने जिन्होंने जीवन के विभिन्न क्षेत्रों में नाम अर्जित किया है उन्हें सम्मानित किया जाएगा।


एचपी अखण्ड शिक्षा ज्योति – मेरे स्कूल से निकले मोती योजना

  • मुख्यमंत्री ने सड़कों की धातु की घोषणा की जो स्कूल की ओर जाता है और स्कूल के मैदान के विस्तार के लिए 10 लाख की लागत से स्कूल में एक स्टेडियम भी बनाया जा रहा है।
  • इतना ही नहीं मुख्यमंत्री ने बैग्सियाड स्कूल में एक अतिरिक्त इमारत बनाने के लिए 1 करोड़ रु और बैग्सियाड बाजार के लिए 10 सौर रोशनी की भी घोषणा की है।
  • राज्य सरकार इस योजना के अंतर्गत, सभी स्कूल में 51000/- रूपये की वित्तीय सहायता प्रदान करेगा तथा इस अवसर पर सांस्कृतिक कार्यक्रम करने वाले छात्रों के लिए अपने विवेकाधीन निधि से 31,000/- रूपये की मदद की जाएगी
  • स्कूलों और शिक्षकों व्यक्तियों के करियर को आकार देने के लिए एक प्रमुख भूमिका निभाते हैं और इस प्रकार प्रत्येक व्यक्ति को कृतज्ञता के रूप में संस्थान को वापस चुकाने की जरूरत होती है।
  • राज्य सरकार उन सभी छात्रों को सम्मानित किया है जिनका नाम “स्कूल रोल ऑफ ऑनर बोर्ड” पर दर्ज है
  • इस योजना का लक्ष्य छात्रों को अपने जीवन में नई ऊंचाइयों को प्राप्त करने के लिए कड़ी मेहनत करने के लिए प्रेरित करना है।

हिमाचल प्रदेश मेधा प्रोत्साहन योजना – मेरे स्कूल से निकले मोती योजना

राज्य सरकार ने 500 मेधावी छात्रों को आईएएस, एचएएस, एनईईटी, जेईई, आईआईटी इत्यादि जैसे प्रतिस्पर्धी परीक्षाओं के लिए तैयार करने के लिए एचपी मेधा प्रोत्सहन योजना शुरू की है।

इस योजना के अंतर्गत, चुने गए छात्रों को राज्य सरकार कोचिंग उद्देश्यों के लिए प्रत्येक छात्र को 1 लाख रूपये की वित्तीय सहायता प्रदान करेगी ताकि वह बेहतर शिक्षा प्राप्त कर सके

इतना ही नहीं हिमाचल प्रदेश सरकार ने नर्सरी कक्षाएं भी शुरू कर दी हैं। क्योकि नर्सरी कक्षाओं की अनुपलब्धता के कारण, माता-पिता निजी स्कूलों में अपने बच्चों को स्वीकार कर रहे थे। यह योजना माता-पिता को अपने बच्चों को सरकारी स्कूलों में प्रवेश करने के लिए प्रेरित करेगी।

हिमाचल प्रदेश अनुभव योजना – डॉक्टरों के साथ ऑनलाइन अपॉइंटमेंट बुकिंग

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *