भारतीय प्रधानमंत्री जनऔषधि परियोजना – स्तिथि जाँच | ऑनलाइन आवेदन | http://janaushadhi.gov.in/

प्रधानमंत्री जनऔषधि परियोजना

भारतीय प्रधानमंत्री जनऔषधि परियोजना – भारत सरकार उन सभी युवाओ के लिए रोजगार प्राप्त करने कि व्यवस्था की है जो युवा प्रतिभाशाली तो है परन्तु उसे रोजगार नहीं मिल पता है जिससे उसे अपने जीवन में रोजगार प्राप्त करने हेतु कई परेशानियो का सामना करना पड़ता है लेकिन अब किसी भी युवा को रोजगार प्राप्त करने के लिए किसी भी तरह कि समस्या का सामना नही करना होगा। क्योकि भारतीय प्रधानमंत्री जनऔषधि परियोजना के अंतर्गत सभी युवाओ को रोजगार प्रदान करने के लिए जनऔषधि सेंटर स्कीम को और सरल कर दिया गया है। जिससे सभी युवाओ को रोजगार कि प्राप्ति होगी।

भारतीय प्रधानमंत्री जनऔषधि परियोजना 

भारतीय प्रधानमंत्री जनऔषधि परियोजना द्वारा इस निर्णय को सभी बेरोजगार युवाओ के हितो को ध्यान में रखते हुए लिया गया है सरकार द्वारा शुरु कि गई इस जनऔषधि सेंटर स्कीम से जुड़कर कोई भी युवा बड़ी आसानी से हर महीने 25 से 30 हजार रूपये अर्जित कर सकता है। सरकार ने इस बढती हुई बेरोजगारी को कम करने के लिए पुरे देश में लगभग दो हजार जनऔषधि सेंटर और खोलने का निर्णय किया है वर्तमान समय में करीबन तीन हजार जनऔषधि सेंटर सुचारू रूप से चल रहे है जिससे सभी बेरोजगार युवाओ को रोजगार कि प्राप्ति हो रही है।

भारतीय प्रधानमंत्री जनऔषधि परियोजना से अधिक से अधिक व्यक्तियों को जोडऩे हेतु इस प्रक्रिया को काफी सरल बना दिया है। सरकार कि इस योजना के अंतर्गत कई अहम और लाभदायक निर्णय लिए गए है जैसे कि–

  • आवेदन फीस और प्रॉसेसिंग फीस को खत्म कर दिया गया है।
  • अगर कोई व्यक्ति सरकारी दवाओं की दुकान खोलना चाहता है तो इसके लिए सरकार द्वारा उसे ढाई लाख रुपए की सहायता की जा रही है।
  • आम लोगों तक सस्ती दवाएं आसानी से उपलब्ध कराई जाएगी।

हम आपको बताना चाहते है कि अगर कोई व्यक्ति जनऔषधि सेंटर खोलना चाहता है तो सरकार द्वारा इसकी 3 सूची बनाई गई है। वह निचे दी गई तालिका में बताई गई है

पहली सूची 
दूसरी सूची 
तीसरी सूची 
बेरोजगार फार्मासिस्ट ट्रस्ट इस सूची में राज्य सरकारों द्वारा नॉमिनेट की गई एजेंसी होगी।
डॉक्टर एनजीओ
रजिस्टर्ड मेडिकल प्रैक्टिशनर स्टोर प्राइवेट हॉस्पिटल
सोसायटी और सेल्फ हेल्प ग्रुप का स्टोर

अगर आप भी भारत सरकार की इस योजना से जुडके लाभ कमाना चाहते है तो आपको कुछ बातो का ध्यान रखना होगा व सरकार द्वारा दिए जा रही सुविधा का विविरण भी इन्ही बिन्दुओं में दिया गया है  जैसे कि –

  • सेंटर खोलने के लिए 120 वर्गफुट एरिया में दुकान होनी अनिवार्य होगी।
  • स्टोर खोलने के लिए आपके पास रिटेल ड्रग सेल करने का लाइसेंस जन औषधि स्टोर के नाम से होना चाहिए।
  • सेंटर खोलने हा व्यक्ति को भारत सरकार की तरफ से 650 से ज्यादा दवाएं उपलब्ध कराई जाएंगी।
  • आप अपने सेंटर के जरिए महीने में जितनी दवाएं सेल करेंगे, उन दवाओं का लगभग 20% आपको कमिशन के रूप में प्राप्त कराया जाएगा। ट्रेड मार्जिन के अलावा सरकार हर महीने कि बिक्री के आनुसार 10% इंसेंटिव देगी, जो आपके बैंक अकाउंट में आ जाएगा।
  • किसी भी व्यक्ति के सेंटर खोलने पर एक लाख रुपए की दवाएं पहले खरीदनी होगी। परन्तु बाद में इसे भारत सरकार द्वारा रीइंबर्समेंट करा जाएगा।
  • अगर आप सरकार कि इस योजना के अंतर्गत कोई सेंटर खोलते है तो दुकान में रैक, डेस्क आदि बनवाने में सरकार आपको 1 लाख रुपए तक की सहायता करेगी।
  • जनऔषधि सेंटर खोलने के लिए कंप्यूटर आदि के सेटअप पर पचास हजार रुपए तक के खर्च पर भी सरकार आपको यह पैसा रिटर्न करेगी।

भारतीय प्रधानमंत्री जनऔषधि परियोजना ऑनलाइन आवेदन कैसे करे?

अगर आप भी भारत सरकार कि इस योजना से जुड़ने के लिए आवेदन करना चाहते है आपके पास कुछ जरुरी दस्तावेज होना अनिवार्य है जैसे मान लीजिए आप कोई संस्थान, एनजीओ, हॉस्पिटल, चैरिटेबल संस्था को आवेदन करना चाहते है तो आपके पास आधार कार्ड, पैन कार्ड और पंजीयन प्रमाण पत्र होना अनिवार्य है अगर आप इस योजना के लिए ऑनलाइन आवेदन करना चाहते है तो इसकि अधिकारिक वेबसाइट http://janaushadhi.gov.in/ पर जाकर कर सकते है।

यहां हमने राज्यों के अनुसार जन औषाधी केंद्रों की जानकारी प्रदान की है। आप इस तालिका के माध्यम से अपने राज्य, शहर में अपने निकटतम जेएनपी केंद्र पा सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *